मैथिली गीत – सिन्दुरदान

Byदूधमती साप्ताहिक

१६ मंसिर २०८०, शनिबार १५:३८ १६ मंसिर २०८०, शनिबार १५:३८ १६ मंसिर २०८०, शनिबार १५:३८

♦ डा. विजय दत्त

सिन्दुर लिए यौ रघुवर
शुभ लगन समैया –३
सिन्दुर लिए यौ पाहुन
शुभ लगन समैया ।

हाथ दहिन लिअ सिन्नुर सुपारी
सोन सहित आव मांगो उघारी
सजा दियौ हे रघुवर
बाजे बधैया ।
सिन्नुर लिए यौ पाहुन
शुभ लगनके वेरिया ।

सोन सिन्दुरसं मांग सजाओल
वहिन वैदेही रतन राम पाओल
चुमा दियौ हे सासु
पुष्प वरसै नगरिया ।
सिन्नुर लिए यौ पाहुन
शुभ लगन समैया ।

चुमबए लगली सासु सुनैना
हर्ष विभोरे लोचन नयना
सजा दिअ हे सखि
कोहबर के समैया
सिन्नुर लिए यौ पाहुन
शुभ लगन के वेरिया ।

लेखक बारे